EPCO
हिन्दी | English
पर्यावरण शोध प्रयोगशाला Office Order View Gallery
Introduction

पर्यावरण शोध प्रयोगशाला की स्थापना एप्को में वर्ष 1997 में की गई थी। आरंभ में इस प्रयोगशाला का उददेश्य भोपाल की बड़ी एवं छोटी झील का पारिस्थितिकी एवं पर्यावरण के स्तर को मॉनिटर करना एवं झीलो की पारिस्थितिकी एवं पर्यावरण पर अध्ययन एवं अनुसंधान एवं वनस्पति एवं जलीय जीवो की सूची एवं जैवविविधता का अध्ययन करना था।
इस उददेश्यो की प्राप्ति हेतु वर्तमान समय में प्रयोगशाला लगभग 30 पैरामीटर का विभिन्न स्तरो जैसे भौतिक, रासायनिक एवं जैविक स्तर पर अध्ययन करना। प्रयोगशाला में अध्ययन हेतु बड़ी एवं छोटी झील में 18 एवं 14 स्थानो को निर्धारित किया गया है जहां से पानी के नमूने लिये जाते है। उक्त पानी के नमूनो का विश्लेषण का अध्ययन निर्धारित मानको पर मौसम के अनुसार किया जाता है। इसके अलावा जरूरत के अनुसार समय समय पर पानी एवं मिट्टी की गुणवत्ता का अध्ययन भी किया जाता है।
इसके अतिरिक्त प्रयोगशाला द्धारा निम्न कार्य किये जाते है:-  द्धारा

  1. प्रयोगशाला द्वारा शासकीय संस्थाओं को जल, मृदा एवं तलछट की गुणवत्ता का विश्लेषण करने हेतु शुल्क सहित सेवाऐं प्रदाय की जाती है।  
  2. विधालय एवं वि.वि. के विधार्थीयों को शोध एवं प्रशिक्षण शुल्क सहित प्रदान किया जाता है।
  3. प्रयोगशाला राज्य के विभिन्न जल स्तोत्र के जल की गुणवत्ता को मॉनिटर करती है। वर्तमान में मुख्यालय स्तर पर विभिन्न जल स्तोत्र की जल गुणवत्ता को लेक एटलस के अध्ययन के अन्तर्गत मॉनिटर किया गया है।
नर्मदा नदी के जल गुणवत्ता का अध्ययन: पर्यावरण रिसर्च प्रयोगशाला ने वर्तमान में नर्मदा नदी के जल की गुणवत्ता पर दो वर्ष अध्ययन राज्य योजना आयोग द्वारा नवोभेषी योजनांतर्गत प्राप्त आर्थिक सहायता से किया  है।   

 
 
 
Powered by SynQues                    EPCO © 2011                    Disclaimer | Privacy Policy | Sitemap